Breaking News

आजमगढ़ के प्रशांत की पुस्तक का उत्तराखंड महोत्सव में हुआ विमोचन

16-11-2021 06:09:07 PM

आजमगढ़ के प्रशांत की पुस्तक का उत्तराखंड महोत्सव में हुआ विमोचन


आजमगढ़। लखनऊ में आयोजित उत्तराखंड महोत्सव में आजमगढ़ जनपद हरबंशपुर निवासी प्रशांत शर्मा की पुस्तक जीवन एक सरिता का विमोचन हुआ है। प्रशांत शर्मा जनपद के प्रख्यात बाल रोग चिकित्सक रहे डॉ जे के शर्मा के सबसे बड़े सुपुत्र है। पुस्तक का विमोचन प्रख्यात साहित्यकार आरके नाग द्वारा किया गया।
पुस्तक के लेखक प्रशांत शर्मा ने कहा कि
भगवान श्री कृष्ण, पिता श्री स्व. डॉ. जे. के. शर्मा ही "जीवन एक सरिता" 
(द लाइफ) पुस्तक को बनाने में प्रेरणा स्रोत रहें हैं ।जीवन में पिता का स्थान बहुत ऊंचा है , यह पुस्तक उनको समर्पित है । मैं आपको शतप्रतिशत विश्वास दिलाता हूँ , इन 11 कहानियों के अंदर ही सम्पूर्ण मानव जीवन है । यही पुस्तक की विशेषता है। सभी विषयों पर गहन अध्ययन कर मैंने इस पुस्तक की रचना की है । 
"जीवन एक सरिता" { THE LIFE } पुस्तक के शीर्षक में , यह सच है मेरी धर्म पत्नी का नाम है ,धर्म पत्नी से ही घर में सुख शांति रहती है । जीवन की यात्रा में एक पुस्तक लिख रहा हूँ तो उनका कही न कही मुख्य रूप से नाम लिखना चाहता था वो ईश्वर की कृपा एवं आप लोगों के आशीर्वाद से सम्पूर्ण किया है, इसी के साथ साथ जीवन एक नदी की भांति चलती ही जाती है जीवन में कई उतार चढ़ाव आते हैं उसे कैसे पार करना है पिता श्री की बातों को इन 11 कहानियों के माध्यम से मैंने पिरोने का एक प्रयास किया है ।
प्रशांत शर्मा ऑटोमोबाइल क्षेत्र में २० वर्ष से अधिक का अनुभव वर्तमान में होंडा में सेल्स ट्रेनर पद पर कार्यरत हैं । प्रारंभिक शिक्षा श्रीरामपुर महाराष्ट्र । परास्नातक की शिक्षा आजमगढ़ उ. प्र. से एवं एम. बी .ए . (सेल्स एण्ड मार्केटिंग) की शिक्षा लखनऊ उ. प्र . से की है । पिता स्व. डॉ. जे. के. शर्मा आजमगढ़ में बच्चों के प्रसिद्ध डॉक्टर थे । माँ श्रीमती निवेदिता शर्मा गृहणी हैं ।चार भाई हैं ।दो सन्तान पुत्री अवन्तिका व पुत्र शिवांश हैं । पत्नी श्रीमती सरिता शर्मा शिक्षा विभाग में प्राथमिक विद्यालय में प्रधानाध्यापिका पद पर कार्यरत हैं ।जीवन एक सरिता (THE LIFE) जीवन के बदलते स्वरूप और उद्देश्यों को लेकर लिखी गयी नवीनतम पुस्तक है ।


Comentarios

No Comment Available Here !

Leave a Reply

अपना कमेंट लिखें। कॉमेंट में किसी भी तरह की अभद्र भाषा का प्रयोग न करें। *

भारतवर्ष

1971:विजय दिवस पर विशेष

16-12-2020 10:24:44 AM भारतवर्ष

वीरता की मिसाल: झलकारी बाई

22-11-2020 02:39:23 PM भारतवर्ष

भारतवर्ष

अगर आपके पास कोई समाचार हो तो आप हमे jaibharatvarsh4@gmail.com पर भेज सकते हैं। >>

Copyright 2020. All right reserved